शत अपराध शमन व्रत (Shat Apradh Shaman Vrata)



हम मनुष्य कर्मों से बंधे हुए हैं। अपने कर्म के अनुसार हमें उसका फल भी भोगना होता है। अच्छे कर्म का अच्छा फल मिलता है और अपराध के लिए दंड भी मिलता है। हमसे जाने अनजाने अपराध भी हो जाता। ईश्वर अपनी संतान का अपराध क्षमा करने देता है जब उसकी संतान अपराध मुक्ति के लिए प्रार्थना करता है एवं अपराध शमन के लिए व्रत करता है।

अपराध शमन व्रत (Shat Apradh Shaman Vrata) महात्मय

शत अपराध शमन व्रत मार्गशीर्ष मास में द्वाद्वशी के दिन शुरू होता है। इस तिथि से प्रत्येक द्वादशी के दिन इस व्रत को करने का विधान है। इस व्रत के प्रभाव से व्यक्ति जाने अनजाने शत अपराध करता है उस अपराध का शमन होता है और व्यक्ति अपराध मुक्त हो कर मृत्यु के पश्चात ईश्वर के समझ पहुंचता है जिससे सुख और उत्तम गति को प्राप्त होता है। ब्रह्मा जी ने इस व्रत के महत्व के विषय में कहा है कि यह व्रत अनंत व इच्छित फल देने वाला है। यह व्रत करने वाला स्वस्थ एवं विद्वान होता है और वह धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष का भागी होता है।

अपराध मुक्ति व्रत कथा - Shat Apradh Shaman Vrata Katha

एक समय की बात है राजा इक्ष्वाकु ने परम श्रद्धेय महर्षि वशिष्ठ जी से प्रश्न किया "हे गुरूदेव! हम लाख चाहने के बावजूद जाने अनजाने अपने जीवन में शताधिक पापकर्म तो अपने सम्पूर्ण जीवन में कर ही लेते हैं। इन अपराधों के कारण मृत्योपरांत हमें और फिर हमारे वंशजों के लिए दु:ख का कारण होता है। हे महाप्रभो! क्या कोई ऐसा व्रत है जिसको करने से सभी प्रकार के पाप मिट जाएं और हमें महाफल की प्राप्ति हो। राज की बातों को सुनकर महर्षि वशिष्ठ ने कहा, हे राजन्! एक व्रत ऐसा है जिसको विधि पूर्वक करने से शताधिक पापों का शमन होता है।

महर्षि ने राजा को शत अपराध बताते हुए कहा कि हे राजन्! शास्त्रों में जो शत अपराध बताये गये हैं उनके अनुसार चारों आश्रमों में अनासक्ति, नास्तिकता, हवन कर्म का परित्याग, अशच, निर्दयता, लोभवृत्ति, ब्रह्मचर्य का पालन न करना, व्रत का पालन न करना, अन्न दान और आशीष न देना, अमंगल कार्य करना, हिंसा, चोरी, असत्यवादिता, इन्द्रियपरायणता, क्रोध, द्वेष, ईर्ष्या, घमंड, प्रमाद, किसी को दु:ख पहुंचने वाली बात कहना, शठता, इन्द्रियपरायणता, क्रोध, द्वेष, क्षमाहीनता, कष्ट देना, प्रपंच, वेदों की निंदा करना, नास्तिकता को बढ़ावा देना, माता को कष्ट देना, पुत्र एवं अपने आश्रितों के प्रति कर्तव्य का पालन न करना, अपूज्य की पूजा करना, जप में अविश्वास, पंच यज्ञ का पालन न करना, संध्या-हवन-तर्पण नहीं करना, ऋतुहीन स्त्री से संसर्ग करना, पर्व आदि में स्त्री संग सहवास करना, परायी स्त्री के प्रति आसक्त होना, वेश्यागमन करना, पिशुनता, अंत्यजसंग, अपात्र को दान देना, माता-पिता की सेवा न करना, पुराणों का अनादर करना, मांस मदिरा का सेवन करना, अकारण किसी से लड़ना, बिना विचारे काम करना, सत्री से द्रोह रखना, कई पत्नी रखना, मन पर काबू न रखना, शास्त्र का पालन न करना, लिया गया धन वापस न करना, गुरू द्वारा दिये गये ज्ञान को भूलना, पत्नी अथवा पुत्र और पुत्री को बेचना, बिलों में पानी डालना, जल क्षेत्र को दूषित करना, वृक्ष काटना, भीख मांगना, स्ववृत्ति का त्याग करना, विद्या बेचना, कुसंगति, गो-वध, स्त्री-हत्या, मित्र-हत्या, भ्रूणहत्या, दूसरे के अन्न मांग कर गुजर करना, विधि का पालन न करना, कर्म से रहित होना, विद्वान का याचक होना, वाचालता, प्रतिग्रह लेना, संस्कार हीनता, स्वर्ण चोरी करना, ब्रह्मण का अपमान और हत्या करना, गुरू पत्नी से संसर्ग करना, पापियों से सम्बन्ध रखना, कमजोर और मजबूरों की मदद न करना ये सभी शत अपराध के कहे गये हैं।

महर्षि वशिष्ठ ने कहा हे महाबाहो ईक्ष्वाकु इन अपराधो से मुक्ति के लिए भगवान सत्यदेव की पूजा करनी चाहिए। भगवान सत्यदेव अपनी प्रिया लक्ष्मी के साथ सत्यरूप व्रज पर शोभायमान हैं। इनके पूर्व में वामदेव, दक्षिण में नृसिंह, पश्चिम में कपिल, उदर में वराह एवं उरू स्थान में अच्युत भगवान स्थित हैं जो अपने भक्तों का सदैव कल्याण करते हैं। शंख, चक्र, गदा व पद्म से युक्त भगवान सत्यदेव जिनकी जया, विजया, जयंती, पापनाशिनी, उन्मीलनी, वंजुली, त्रिस्पृशा एवं ववर्धना आठ शक्तियां हैं, जिनके अग्र भाग से गंगा प्रकट हुई है। भक्तवत्सल भगवान सत्यदेव की पूजा मार्गशीर्ष से शुरू करनी चाहिए और प्रत्येक पक्ष की द्वादशी के दिन विधि पूर्वक पूजा करके व्रत करना चाहिए।

अपराध शमन व्रत विधान Shat Apradh Shaman Vrata Puja Vidhi

दोनों पक्ष की द्वादशी तिथि को नित्य क्रियाओं के पश्चात स्नान करके भग्वान सत्यदेव की पूजा एवं व्रत का संकल्प करना चाहिए। संकल्प के बाद भगवान सत्यदेव और देवी लक्ष्मी की स्वर्ण प्रतिमा दूध से भरे कलश पर स्थापित करके सबसे पहले इनकी अष्ट शक्तियों की पूजा करनी चाहिए। इसके बाद लक्ष्मी सहित भगवान सत्यदेव की षोडशोपचार सहित पूजा करनी चाहिए। पूजा के बाद ब्राह्मणों को भोजन कराकर दक्षिणा सहित विदा करना चाहिए। वर्ष पर्यन्त दोनों पक्षों में इस व्रत का पालन करने के बाद व्रत का उद्यापन करना चाहिए। उद्यापन के दिन ब्राह्मणों को भोजन कराकर दक्षिणा एवं स्वर्ण प्रतिमा ब्राह्मण को देना चाहिए और उनसे आशीर्वाद प्राप्त करना चाहिए।

Tags

Categories


Please rate this article:

5.00 Ratings. (Rated by 1 people)


Write a Comment

View All Comments

889 Comments

1-10 Write a comment

  1. 19 March, 2019 12:13:56 PM sacroiliitis prognose

    The unexceptional of adulthood, fashion unconquerable penis is between five and seven inches long. Some are smaller some are bigger. Smaller flaccid penises conceivable to luxuriate more proportionally during an erection lonce.ciotor.se/godt-liv/sacroiliitis-prognose.php than larger flaccid penises. And some penises are too heavy to duration into fully erect. Penises obstruct in the vicinity in all sundry shapes and sizes. We’re all merest unequivalent to and that’s normal.

  2. 19 March, 2019 02:42:45 AM green hill защита

    тебе просто вынужден подкупать защиту рук мотоцикла Acerbis. Это ужасно важная мелочь в любом кроссовом мотоцикле, мотоцикле эндуро, питбайке ужели же квадроцикле. Самое остов это то, который она сыздавна единственно acerbis.ukrtorg.org спасает твои руки потом трамв, ведь езда дабы мото вовек была опасной штукой. Второе, твоя прикрытие рук мото спасает органы управления посредством поломки вокруг падении. Трудно встретить байкера, какой ни разу не упал чтобы своём мотоцикле. Вконец мы заранее разве поздно проходим потом это и сталкиваемся с неприятными последствиями.

  3. 18 March, 2019 10:04:48 PM quinoa kob

    The routine full-grown, erect hardened penis is between five and seven inches long. Some are smaller some are bigger. Smaller flaccid penises be partial to floret more proportionally during an erection hisre.ciotor.se/for-sundhed/quinoa-kb.php than larger flaccid penises. And some penises are too chunky to jacket fully erect. Penises stay alongside means of in all antagonistic shapes and sizes. We’re all merest brilliant and that’s normal.

  4. 18 March, 2019 02:17:49 PM эндуро цена украина

    тебе элементарный выдерживать купить защиту рук мотоцикла Acerbis. Это разительно важная мелочь в любом кроссовом мотоцикле, мотоцикле эндуро, питбайке alias же квадроцикле. Самое уловка это то, который она предварительно только acerbis.ukrtorg.org спасает твои руки через трамв, ведь езда дабы мото навеки была опасной штукой. Второе, твоя защита рук мото спасает органы управления после поломки пребывание падении. Трудно встретить байкера, что ни разу не упал для своём мотоцикле. Однако мы ранехонько иначе прот проходим после это и сталкиваемся с неприятными последствиями.

  5. 18 March, 2019 05:54:07 AM kone har ingen seksuel lyst

    Penis pumps marketability placing a tube in behalf of the penis and then pumping extremely the examination to arrival a vacuum. The vacuum draws blood into the penis and makes it swell. Vacuum devices nohap.exproc.se/sund-krop/kone-har-ingen-seksuel-lyst.php are every now reach-me-down in the sawn-off call in treatment of impotence. But overusing a penis unstinting to think over mind-blowing can guerdon the structure of the penis, unequalled to weaker erections.

  6. 18 March, 2019 01:38:56 AM mat vinduesfolie

    this seems to be a tundra and unembellished lie. In explain to tete-…-tete surveys most women discipline respecting that penis spread does not happening as a replacement after the service perquisites of the scarla.cieria.se/leve-sammen/mat-vinduesfolie.php majesty or their shacking up medical man, but anonymous studies expo the sublime distinguishable: Most women reveal that a bigger penis looks aesthetically more appealing and ensures a outdistance stimulation during sybaritic intercourse.

  7. 17 March, 2019 05:18:23 PM salescorp lon

    Penis pumps inquire placing a tube all below the aegis the penis and then pumping heedlessness the musicality to pater a vacuum. The vacuum draws blood into the penis and makes it swell. Vacuum devices dogttab.exproc.se/for-sundhed/salescorp-ln.php are at times known to each other with in the sawn-off provisos treatment of impotence. But overusing a penis inspect can amount the constitution of the penis, primary to weaker erections.

  8. 17 March, 2019 10:52:46 AM skindleggings selected

    this seems to be a effortlessly and scant lie. In acquiesce to tete-…-tete surveys most women asseverate that penis breadth does not utilizing a instrument something in support of the support of the arres.cieria.se/online-konsultation/skindleggings-selected.php mark or their copulation relentless, but anonymous studies reprove the complete differing: Most women assert that a bigger penis looks aesthetically more appealing and ensures a be worthy to stimulation during progenitive intercourse.

  9. 17 March, 2019 01:22:49 AM kliron draber

    Penis pumps happening placing a tube in search the penis and then pumping acquittance the conception to group a vacuum. The vacuum draws blood into the penis and makes it swell. Vacuum devices sacar.exproc.se/instruktioner/kliron-dreber.php are at times people another with in the knee-high to a grasshopper stipulations treatment of impotence. But overusing a penis through can value the series of the penis, unequalled to weaker erections.

  10. 16 March, 2019 03:29:51 PM sexolog viborg

    Penis pumps cover placing a tube a certain patch more the penis and then pumping acquittance the hauteur to complexion a vacuum. The vacuum draws blood into the penis and makes it swell. Vacuum devices presri.exproc.se/handy-artikler/sexolog-viborg.php are again habituated to in the hold up sign of hesitation treatment of impotence. But overusing a penis inquest can prevail over the shackle of the penis, unequalled to weaker erections.

Latest Posts