प्रदोष व्रत का महत्व (Pradosha vrata and Vidhi)



प्रदोष व्रत (Pradosha vrata) कलियुग में अति मंगलकारी और शिव कृपा प्रदान करने वाला है। स्त्री अथवा पुरूष जो भी अपना कल्याण चाहते हों यह व्रत रख सकते हैं। प्रदोष व्रत  (Pradosha vrata) को करने से हर प्रकार का दोष मिट जाता है। सप्ताह के सातों दिन के प्रदोष व्रत का अपना विशेष महत्व है

  • Pradosha vrata on Sunday - रविवार के दिन प्रदोष व्रत आप रखते हैं तो सदा नीरोग रहेंगे
  • Pradosha vrata on Monday - सोमवार के दिन व्रत करने से आपकी इच्छा फलित होती है (Pradosha vrata on Monday)।
  • Pradosha vrata on Tuesday - मंगलवार को प्रदोष व्रत रखने से रोग से मुक्ति मिलती है और आप स्वस्थ रहते हैं।
  • Pradosha vrata on Wednesday - बुधवार के दिन इस व्रत का पालन करने से सभी प्रकार की कामना सिद्ध होती है।
  • Pradosha vrata on Thursday - बृहस्पतिवार के व्रत से शत्रु का नाश होता है।
  • Pradosha vrata on Friday - शुक्र प्रदोष व्रत से सभाग्य की वृद्धि होती है।
  • Pradosha vrata on Saturday - शनि प्रदोष व्रत से पुत्र की प्राप्ति होती है।

इस व्रत के महात्म्य को गंगा के तट पर किसी समय वेदों के ज्ञाता और भगवान के भक्त श्री सूत जी ने सनकादि ऋषियों को सुनाया था। सूत जी ने कहा है कि कलियुग में जब मनुष्य धर्म के आचरण से हटकर अधर्म की राह पर जा रहा होगा, हर तरफ अन्याय और अनचार का बोलबाला होगा। मानव अपने कर्तव्य से विमुख हो कर नीच कर्म में संलग्न होगा उस समय प्रदोष व्रत ऐसा व्रत होगा जो मानव को शिव की कृपा का पात्र बनाएगा और नीच गति से मुक्त होकर मनुष्य उत्तम लोक को प्राप्त होगा।

सूत जी ने सनकादि ऋषियों को यह भी कहा कि प्रदोष व्रत से पुण्य से कलियुग में मनुष्य के सभी प्रकार के कष्ट और पाप नष्ट हो जाएंगे। यह व्रत अति कल्याणकारी है, इस व्रत के प्रभाव से मनुष्य को अभीष्ट की प्राप्ति होगी। इस व्रत में अलग अलग दिन के प्रदोष व्रत से क्या लाभ मिलता है यह भी सूत जी ने बताया। सूत जी ने सनकादि ऋषियों को बताया कि इस व्रत के महात्मय को सर्वप्रथम भगवान शंकर ने माता सती को सुनाया था। मुझे यही कथा और महात्मय महर्षि वेदव्यास जी ने सुनाया और यह उत्तम व्रत महात्म्य मैने आपको सुनाया है।


प्रदोष व्रत विधान (Pradosha Vrat Vidhi)


सूत जी ने कहा है प्रत्येक पक्ष की त्रयोदशी के व्रत को प्रदोष व्रत कहते हैं। सूर्यास्त के पश्चात रात्रि के आने से पूर्व का समय प्रदोष काल कहलाता है। इस व्रत में महादेव भोले शंकर की पूजा की जाती है। इस व्रत में व्रती को निर्जल रहकर व्रत रखना होता है। प्रात: काल स्नान करके भगवान शिव की बेल पत्र, गंगाजल, अक्षत, धूप, दीप सहित पूजा करें। संध्या काल में पुन: स्नान करके इसी प्रकार से शिव जी की पूजा करना चाहिए। इस प्रकार प्रदोष व्रत करने से व्रती को पुण्य मिलता है।

Tags

Categories


Please rate this article:

5.00 Ratings. (Rated by 1 people)


Write a Comment

View All Comments

181 Comments

1-10 Write a comment

  1. 23 January, 2017 12:57:35 AM Deepak

    Jai shiv shambu Aisa h dost pyaz or lehsun nhi khana chaiye kisi dev ne nhi kaha ye sirf aadmi ki dharna h Agar aap or jyda janna chahte h to muje mail par contact kar sakte ho mai aapka jwab dunga

  2. 11 December, 2016 12:55:29 PM Shivaprasad

    Good

  3. 26 November, 2016 08:32:07 AM Poonam Kondal

    Hello sir, mein apne pati ke uttam swasthaya, or lambi aayu ke liye shiv pradosh vrat rkhna chahti hu, kripa mujhe vrat ki puja vidhi, shiv stotra , vrat kab kholu kya khana hai or udyapan vidhi batai .Reply thanks

  4. 24 November, 2016 01:02:44 PM yosh

    Mein pradosh vrat karti hun par me jaha rahti hun vaha bilva patra nahi milte. also I cannot observe fast so I eat fruits and vrat food. is this ok?

  5. 20 November, 2016 11:07:15 AM pooja tripathj

    hii..sir namste..sir mujhe putrr prdosh rkhna hai to mai kbse start kru.. mujhe plz ap date bata dijiye..

  6. 27 October, 2016 06:49:33 PM raj

    Pardosh vart Udyapan bohut he sarl hai....indif.com ...per dekh lo ji

  7. 16 October, 2016 09:50:30 PM Archana

    lasun pyaze is considered to be tamasic food when we r fasting n doing pooja, we need to be serene calm n in good health, satwic bhojan hamko shanti deti hai. Eating halka bhojan, or fruits n dahi helps fasting n bhakti bhaav mei ham log pooja shradha se ,aaraam se kar lete hai.jaimatarani

  8. 02 October, 2016 03:54:21 AM reet

    Navratro ke 9 din ke fast rakhe ho or beech day me pariods ho jaye to fast continue kre ya chd dene chaiye

  9. 28 September, 2016 12:14:00 PM payal

    Sir, mujhe bta skte hai . Ki shaam mai kis trha ka aahar liya kata hai pardosh varat mai ?

  10. 14 September, 2016 07:13:28 AM Deepak

    friends Jo bi ye fast rakhta h plzz suzzest aaj pradosh vrat h to puzzle suggest me kya hm din me fruits le skate h or kya shaam ko puja k baad paani pi sakte h.plllz Jo bi ye fast rakhta h plzz suggest me

Latest Posts