शनिवार के दिन शनि व्रत (Shani Dev Vrat )



शनि पक्षरहित होकर अगर पाप कर्म की सजा देते हैं तो उत्तम कर्म करने वाले मनुष्य को हर प्रकार की सुख सुविधा एवं वैभव भी प्रदान करते हैं। शनि देव की जो भक्ति पूर्वक व्रतोपासना करते हैं वह पाप की ओर जाने से बच जाते हैं जिससे शनि की दशा आने पर उन्हें कष्ट नहीं भोगना पड़ता।

शनिवार व्रत की विधि (Shanidev Vrat Vidhi)

शनिवार का व्रत यूं तो आप वर्ष के किसी भी शनिवार के दिन शुरू कर सकते हैं परंतु श्रावण मास में शनिवार का व्रत प्रारम्भ करना अति मंगलकारी है । इस व्रत का पालन करने वाले को शनिवार के दिन प्रात: ब्रह्म मुहूर्त में स्नान करके शनिदेव की प्रतिमा की विधि सहित पूजन करनी चाहिए। शनि भक्तों को इस दिन शनि मंदिर में जाकर शनि देव को नीले लाजवन्ती का फूल, तिल, तेल, गुड़ अर्पण करना चाहिए। शनि देव के नाम से दीपोत्सर्ग करना चाहिए।

शनिवार के दिन शनिदेव की पूजा के पश्चात उनसे अपने अपराधों एवं जाने अनजाने जो भी आपसे पाप कर्म हुआ हो उसके लिए क्षमा याचना करनी चाहिए। शनि महाराज की पूजा के पश्चात राहु और केतु की पूजा भी करनी चाहिए। इस दिन शनि भक्तों को पीपल में जल देना चाहिए और पीपल में सूत्र बांधकर सात बार परिक्रमा करनी चाहिए। शनिवार के दिन भक्तों को शनि महाराज के नाम से व्रत रखना चाहिए।

शनिश्वर के भक्तों को संध्या काल में शनि मंदिर में जाकर दीप भेंट करना चाहिए और उड़द दाल में खिचड़ी बनाकर शनि महाराज को भोग लगाना चाहिए। शनि देव का आशीर्वाद लेने के पश्चात आपको प्रसाद स्वरूप खिचड़ी खाना चाहिए। सूर्यपुत्र शनिदेव की प्रसन्नता हेतु इस दिन काले चींटियों को गुड़ एवं आटा देना चाहिए। इस दिन काले रंग का वस्त्र धारण करना चाहिए। अगर आपके पास समय की उपलब्धता हो तो शनिवार के दिन 108 तुलसी के पत्तों पर श्री राम चन्द्र जी का नाम लिखकर, पत्तों को सूत्र में पिड़ोएं और माला बनाकर श्री हरि विष्णु के गले में डालें। जिन पर शनि का कोप चल रहा हो वह भी इस मालार्पण के प्रभाव से कोप से मुक्त हो सकते हैं। इस प्रकार भक्ति एवं श्रद्धापूर्वक शनिवार के दिन शनिदेव का व्रत एवं पूजन करने से शनि का कोप शांत होता है और शनि की दशा के समय उनके भक्तों को कष्ट की अनुभूति नहीं होती है।

Tags

Categories


Please rate this article:

5.00 Ratings. (Rated by 1 people)


Write a Comment

View All Comments

573 Comments

1-10 Write a comment

  1. 10 December, 2016 05:09:21 AM Preety

    Hi how can do shani Dev fast nd what can I eat or drink please help me I m gng lack of my study nowadays

  2. 05 December, 2016 09:04:31 AM pramod kumar sarda.bankura

    JAY SANI DEWAI NAMAH!!!

  3. 26 November, 2016 03:20:41 AM Rajneesh maurya

    Salt kha sakta h kiya jai sandi dev

  4. 18 November, 2016 11:35:50 AM SAHIL TANEJA

    JAI SHANI DEV MAHARAJ JI KI

  5. 08 November, 2016 05:25:40 PM monu jaiswal

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंलगवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में अचनाक कई बड़े ऐलान कर दिए। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि देश में किसी को भी इस फैसले की जानकारी इससे पहले नहीं मिली है, ताकि गोपनीयता बरकरार रहे। इसलिए बैंक और डाकघर जैसी वित्तीय संस्थाओं को कम समय में ज्यादा काम करना है। इसी वजह से 9 नवंबर यानी बुधवार को डाकघर और बैंक बंद रहेंगे। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि 8 नवंबर-9 नवंबर की मध्यरात्रि से 500 और 1000 के नोट बंद हो जाएंगे। पीएम ने कहा, '500 और 1000 रुपये के पुराने नोट 10 नवंबर से 30 दिसंबर 2016 तक आप अपने बैंक या डाकघर के खाते में जमा करवा सकते हैं।' जनता को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आपकी धनराशि आपकी ही रहेगी, आपको कोई चिंता करने की जरूरत नहीं है। किसी कारणवश अगर आप 30 दिसंबर तक ये नोट जमा नहीं कर पाए, तो आपको एक आखिरी अवसर भी दिया जाएगा। आपके पास 50 दिनों का समय है। 500 और 1000 के नोटों के अलावा बाकी सभी नोट और सिक्के नियमित हैं और उनसे लेन-देन हो सकता

  6. 28 October, 2016 01:55:52 AM Sourav Singh Rajput

    Sir, I want to know. Why I can't save my money. It's come in my Pocket but it doesn't take money time to get way. what will do... and I have a lots of mental depression. What will I do?? Help me

  7. 22 October, 2016 12:53:17 PM manish

    Sir me bhool gya hu Mene kitne shanivaar varat liye h to ab me kya karu or kitne varat or lu Mujhe smjh ni a ra aap sujhao de koi..

  8. 22 October, 2016 06:34:40 AM seema

    jai shani dev jai shani dev ki jai

  9. 29 September, 2016 09:27:02 AM DEEPAK

    jai jai jai shani dev ki jai

  10. 29 September, 2016 09:24:43 AM DEEPAK

    shani dev bhagwan jane anjane me mujse koi galti hui ho to prbhu mujpr samayachna bnaye rakhna or apna ashirwad hamesa bnaye rakhna or prbhu mere priwar me shanti bni rahe jai shani dev maharaj ki jai jai jai jai

Latest Posts